बेस्ट हिंदी शायरी – हद से बढ़ जाये ताल्लुक

हद से बढ़ जाये ताल्लुक तो ग़म मिलते हैं ।

हम इसी वास्ते हर शख्स से कम मिलते हैं ।

हिंदी सुविचार शायरी – ये पेड़ ये पत्ते ये

ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें भी परेशान हो जाएं !
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुस्लमान हो जाएं…

शायरी में सुविचार – समझौतों की भीड़-भाड़ में सबसे

समझौतों की भीड़-भाड़ में सबसे रिश्ता टूट गया,
इतने घुटने टेके हमने आख़िर घुटना टूट गया…

शेर २ लाइन में – सूरज ढला तो कद से

सूरज ढला तो कद से ऊँचे हो गए साये,
कभी पैरों से रौंदी थी, यहीं परछाइयां हमने..

शायरी हिंदी में – डूबे हुओं को हमने बिठाया

डूबे हुओं को हमने बिठाया था और फिर
कश्ती का बोझ कहकर उतारा हमें गया !!!”