हिंदी शेर ओ शायरी – बिन मेरे रह ही जाएगी

बिन मेरे रह ही जाएगी कोई न कोई कमी,
तुम ज़िंदगी को जितनी मर्जी सँवार लेना…!!