हिंदी रोमांटिक पोएट्री – कोई ऐतराज़ नहीं है बिखरने

कोई ऐतराज़ नहीं है बिखरने से मुझको,
तुम अगर अपनी बाहों में संभालने की ज़हमत करो…