शेर २ पंक्ति में – मुझे भी ज़िन्दगी में तुम

मुझे भी ज़िन्दगी में तुम ज़रूरी मत समझ लेना,
सुना है तुम ज़रूरी काम अक्सर भूल जाते हो…!!