लेटेस्ट दर्द भरी शायरी – बग़ैर जिसके एक पल भी

बग़ैर जिसके एक पल भी गुज़ारा नहीं
होता,

सितम देखिये वही शख़्स हमारा नहीं
होता !!