फ्रेश सेड शायरी – हाय कितना मासूम था उनका

हाय कितना मासूम था उनका बात करने का लहज़ा…!
धीरे से जान कह के… बेजान कर दिया ……!!