फ्रेश रोमांटिक शायरी – कुछ और जज्बातो को बेताब

कुछ और जज्बातो को बेताब किया उसने,
आज मेहंदी वाले हाथो से आदाब किया उसने..!!