फ्रेंड शायरी – हंसी छुपाना किसी को गवारा नहीं होता

हंसी छुपाना किसी को गवारा नहीं होता,
हर मुसाफिर ज़िन्दगी का सहारा नहीं होता,
मिलते है लोग इस तनहा ज़िन्दगी में पर,
हर कोई दोस्त तुमसा प्यारा नहीं होता ।

Leave a Reply