फ्रेंडशिप शेर ओ शायरी – हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत तेरी शाम कर दूँ

हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत तेरी शाम कर दूँ ,
अपना प्यार और दोस्ती तेरे नाम कर दूँ ,
मिल जाये अगर दुबारा यह ज़िन्दगी दोस्त,
हर बार मैं ये ज़िन्दगी तुझ पर कुर्बान कर दूँ ।