दोस्ती शायरी ४ लाइन में – जीने की नयी अदा दी है

जीने की नयी अदा दी है,
खुश रहने की उसने दुआ दी है,
ऐ खुदा मेरे दोस्तों को सलामत रखना,
जिसने अपने दिल में मुझे जगह दी है |